Monday, August 10, 2009

मेरे दिल का quarter कर लो occupy

इस कविता की पहली दो पंक्तियाँ बचपन में गाती थी....
उसके बाद कुछ याद नहीं रहा..सोचा इसको फिर से नया रूप दिया जाए...
ये दो पंक्तियाँ किसने लिखी मुझे नहीं मालूम....
ये बिलकुल ऐसे ही है जैसे घो-घो रानी कितना कितना पानी......हम नहीं जानते किसने लिखा...
फिर भी नया रूप है..आपको पसंद आएगा ...

मेरे दिल का quarter कर लो occupy
मत देना darling rent का single पाई

साँसों कि गलियों में तुम मजे में jogging करना
थक जाओ और मर्ज़ी हो तो ठंडा पानी पीना
मेरे नैन करेंगे water supply
मत देना darling rent का single पाई

धड़कन मेरी थपकी देगी अरमां का बिछौना
mood करे और नींद लगे तो मजे में उस पर सोना
मेरा heart करेगा heating सप्लाई
मत देना darling rent का single पाई

दोनों auricles तेरे,darling ventricles भी तेरा
बिजली-पानी मेरा खर्चा नहीं लगेगा ढेला
रानी मेरी बन जाओ बाकी को good bye
मत देना darling rent का single पाई

मेरे दिल का quarter कर लो occupy
मत देना darling rent का single पाई

26 comments:

  1. मस्त पैरोड़ी!!!

    ReplyDelete
  2. कर लिया जी occupy ..!!
    अच्छा है ..!!

    ReplyDelete
  3. हिन्दी अँगेज़ी का फ्यूज़न बढिया है

    ReplyDelete
  4. दोनों auricles तेरे,darling ventricles भी तेरा
    बिजली-पानी मेरा खर्चा नहीं लगेगा ढेला


    kisi ko rulana aasan hai...
    ..jo 'shayad' main kar sakta hoon,aur koi bhi kar sakta hai...
    par tumahara andaaz...
    ...vayng wala,
    Di, bada hi mushkil kaam hai...

    ...aur ye kaam aap hi kar sakti ho.

    ReplyDelete
  5. बहुत मज़ा आया। हॉलीडे के बाद मंडे न होकर जॉली-डे हो गया। वाह आपा, आप लाजवाब हैं।

    ReplyDelete
  6. dub gaye ham bhi .....bahut sundarata se piroya hai har

    ReplyDelete
  7. अति सुन्दर! पढकर मजा आ गया जी

    आभार

    ReplyDelete
  8. मस्त....... लाजवाब है पैरोड़ी............ मैं तो अभी भी gaa रहा हूँ..........

    ReplyDelete
  9. दिगंबर जी,
    गा कर भेज ही दीजिये मैं आप का गीत भी दाल दूंगी...
    आप सब से अनुरोध है .. जो भी गाना चाहें गाइए और भेज दीजिये इसी बहाने कुछ गीत-गोविन्द भी हो जाएगा..

    ReplyDelete
  10. Hamare yahan bhi kafee vacancy hai!Aapbhi chalee aayiye!

    http://shamasansmaran.blogspot.com

    http://lalitlekh.blogspot.com

    http://shama-baagwaanee.blogspot.com

    http://shama-kahanee.blogspot.com

    http://kavitasbyshama.blogspot.com

    http://aajtakyahantak-thelightbyalonelypath.blogspot.com

    http://dharohar-thelightbyalonelypath.blogspot.com

    ReplyDelete
  11. साँसों कि गलियों में तुम मजे में jogging करना
    थक जाओ और मर्ज़ी हो तो ठंडा पानी पीना
    मेरे नैन करेंगे water supply
    मत देना darling rent का single पाई


    Nice

    ReplyDelete
  12. Ismen hindi bhee pavva ya quarter hee hai.

    ReplyDelete
  13. युवा जी,
    आपको अद्धा-पावा की क्या ज़रुरत आप तो पहले से ही टुल्ल्ल्ल हैं..
    हा हा हा हा हा..

    ReplyDelete
  14. बस इतना ही लिखूंगा ... मजा आ गया |

    ReplyDelete
  15. aapne ye nahi likha hai mein janti hun bcoz jab me choti si thi tab se isko gati ayee hun...ye apne likha hai kya????

    pls batana jarur...aur jab kisi aur ki rachna dale to pls likh jarur de usko apne anhi likha hai...

    aapse sahyog ki asha karungi

    ReplyDelete
  16. sakhi ji,
    aapne theek bhi hain nahi bhi hain..
    iski pahli do panttiyan maine bhi bachpan mein suni hain
    ek aur pankti hai 'mere nain karenge water supply wo bhi suni thi
    aur ye kisne likhi thi mujhe maloom bhi nahi hai...

    baaki sabhi meine hi likhi hai..

    ReplyDelete
  17. kyaa ise duniyaa kaa sbse be-suraa insaan bhi gaa saktaa hai ji..????

    ReplyDelete
  18. bahut hi acchi lagi parodi...

    ReplyDelete
  19. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  20. manu ji,
    bilkul gaa sakta hai ji besura se besura gaa sakta hai aur aap bhi gaa sakte hain.
    vishwaas kijiye sur ki ummeed main aapse bilkul nahi kar rahi hun haan chutkiyon ki zaroor kar rahi hun...

    ReplyDelete
  21. ada ji,
    shukriya aane ke liye....
    abhi abhi ek aur rachna likhi hai...
    zarra nawazi hogi aapki agar aap aayein aur padhe....
    apne email address dijiyega please, aapko frnd list mein add kar lunga...shukriyaa...

    ReplyDelete