Tuesday, August 14, 2012

आधी रात का सवेरा ...


दिल्ली ने !
अतीत के 
अनगिनत उत्सव देखे हैं,
चक्रवर्ती सम्राटों के राजतिलक देखे हैं,
शत्रुओं की पराजय देखी,
विजय का विलास देखा,
अपूर्व उल्लास देखा,
परन्तु...
ऐसी एक घड़ी आई 
जब...
सूर्योदय और सूर्यास्त का 
अंतर मिटते देखा,
बड़े-बड़े महोत्सवों 
और महान पर्वों को 
फीका पड़ते देखा,
उस रात... 
मतवारे, दिल्ली की सड़कों पर झूम रहे थे,
कितने ही सपने, 
लाखों रंग लिए
बूढी आँखों में घूम रहे थे,
दिल्ली की धमनियों में 
स्वतंत्रता
यूँ अवतरित हुई थी,
जैसे...
धरती पर 
स्वर्ग से गंगोत्री उतर आई हो,
आधी रात को तीन लाख ने
सुर मिलाया था,
'जन-गण-मन', 'वन्दे मातरम्' 
का जयघोष लगाया था,
पहली बार...
'शस्य-श्यामला'
'बहुबल-धारिणी'
'रिपुदल-वारिणी'
शब्दों ने...
स्वयं ही पुकार कर
अपना सही अर्थ
इस दुनिया को बताया था,
ललित लय में 
हिलते हुए वो अनगिनत सिर,
क्या सोच रहे थे 
ये इतिहास में नहीं लिखा गया, 
मगर वो तारीख़ 
दर्ज हो गयी आने वाली 
अनगिनत शताब्दियों के लिए,
जब...
आधी रात के सवेरे ने
१५ अगस्त १९४७ को,
आँख खुलते ही
सलामी दी थी
नवीन, अभूतपूर्व 
तिरंगे को,
जयघोष के नाद से 
जनसमूह की नाड़ियाँ,
युद्धगान से धमक उठीं,
माँ भारती ने अपनी बाहें फैला दी
अपने बच्चों के लिए, 
क्योंकि अब !
कोई बंधन नहीं था...!
जय हिंद...!!



सभी चित्र गूगल से साभार...

15 comments:

  1. सच्ची......
    दूसरों की कमाई इस मिठाई का रस बड़ा जायकेदार है.
    स्वतंत्रता दिवस की अनंत शुभकामनाएं आपको..
    and welcome back :-)

    anu

    ReplyDelete
  2. उत्कृष्ट प्रस्तुति बुधवार के चर्चा मंच पर ।।

    ReplyDelete
  3. उत्कृष्ट रचना, स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं

    --- शायद आपको पसंद आये ---
    1. Facebook Recommendation Bar ब्लॉगर पर
    2. चाँद पर मेला लगायें और देखें
    3. गुलाबी कोंपलें

    ReplyDelete
  4. आपका आगमन इतने शानदार अवसर पर इस सुन्दर भाव के साथ हुआ मन आनंदित हो गया ...
    २९.०७.२०१२ को प्रकाशित आस्था और विश्वास आपको समर्पित किया गया है , मन लगे तो अवलोकन करने का कष्ट करियेगा .

    ReplyDelete
  5. जय भारत, जय भारती|
    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं|

    ReplyDelete
  6. जय हिंद!!
    पावन स्वतंत्रता दिवस पर बधाई सह शुभकामनाएँ!!

    ReplyDelete
  7. अब मिल गया है तो खोने के प्रयास चल रहे हैं..

    ReplyDelete
  8. जय हिंद. स्वतंत्रता दिवस पर बधाई/ शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  9. स्वतंत्रता दिवस महोत्सव पर बधाईयाँ और शुभ कामनाएं

    ReplyDelete
  10. बहुत सुंदर रचना !

    अब वो तीन लाख अलग अलग
    अपने अपने गाने गा रहे हैं
    आजादी का मतलब समझ कर
    अपने अपने फायदे उठा रहे हैं !

    ReplyDelete
  11. मुबारक हो..

    :(

    ReplyDelete
  12. कितना भाग्य शाली था वो दिन कितना रोमांचकारी होगा वह द्रश्य सोच कर ही एक अजीब सिहरन दौड़ती है शरीर में उन पलों को हमें और आने वाली पीढ़ी को जीवित रखना है बहुत बेहतरीन प्रस्तुति बहुत बधाई आपको

    ReplyDelete